Create

छाती की नसों में दर्द: Chaati Ki Nason Mein Dard

फोटो: The Washington Post
फोटो: The Washington Post

छाती का दर्द एक साथ कई बीमारियों और परेशानियों को दर्शाता है। अगर आपको अपने शरीर के वक्षस्थल या उसके आस पास कहीं पर भी परेशानी महसूस होती है तो ये एक परेशानी की बात है। छाती का दर्द किसी भी तरह से सही नहीं है। इसका कारण ये भी हो सकता है कि आपको छाती से जुड़ा हुआ कोई रोग हो या ये सिर्फ टेम्परेरी भी हो सकता है।

ये भी पढ़ें: पूरे शरीर में गैस बनना: Poore Shareer Mein Gas Banna

महिलाओं को ये दर्द कभी कभार ब्रेस्ट में किसी दिक्कत के कारण भी होता है। ऐसे भी कई पुरुष हैं जिन्हें दिल से जुडी दिक्कत के कारण इस तरह के दर्द से दो चार होना पड़ता है। अगर आप आज भी अपनी सेहत को ठीक करना चाहते हैं तो आप शुरुआत कर सकते हैं क्योंकि शुरू करने के लिए शुरुआत ही सबसे ज्यादा जरूरी है।

हमारा शरीर कई प्रकार के तंत्रों को मिलाकर बना है जिसकी वजह से हर तंत्र को दूसरे के साथ तालमेल बनाकर रखना पड़ता है। ऐसा ना करते ही दिक्कत होने लगती है जो काफी कष्टकारी होती है। आइए आपको बताते हैं उन कारणों के बारे में जिनकी वजह से आपकी छाती की नसों में दर्द होता है।

छाती की नसों में दर्द

हर्पिस

हर्पिस एक ऐसी बीमारी है जिसकी वजह से नसों में सूजन आ जाती है। इसकी वजह से छाती में दर्द होता है। अगर इस परेशानी को समय रहते ठीक नहीं किया गया तो दिक्कत बड़े स्तर तक जा सकती है। इस बीमारी का इलाज तुरंत करवाएं क्योंकि आप परेशानियों को खुद से दूर रखना चाहेंगे।

ये भी पढ़ें: वायरल फीवर के लक्षण: Viral Fever Ke Lakshan

पेट

पेट में कोई भी दिक्कत होने पर छाती की नसों में दर्द होना लाजमी है। शरीर के ये दो अंग एक दूसरे के पूरक हैं और एक में पीड़ा होने पर दूसरे में दर्द होना लाजमी है। ऐसे में आप इस बात का ध्यान रखें कि आपके पेट में कोई दिक्कत ना हो क्योंकि उसका सीधा असर छाती की नसों पर होता है और उससे दर्द होता है।

एसिडिटी

एसिडिटी होते ही आपको गैस महसूस होती है और उसे अगर समय पर बाहर नहीं किया गया तो उसका असर आपको अपनी छाती में और उसकी नसों में देखने को मिलता है। इसकी वजह से गैस छाती की नसों पर असर या प्रेशर ड़ालती है और आपको एसिडिटी के साथ साथ इस परेशानी से भी निजात पाना पड़ता है।

ये भी पढ़ें: शरीर की कमजोरी कैसे दूर करें: Shareer Ki Kamjori Kaise Door Karein

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Amit Shukla
Be the first one to comment