Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

4 मौके जब सौरव गांगुली की कप्तानी में टूटा फैंस का दिल

ANALYST
टॉप 5 / टॉप 10
22.89K   //    21 Jun 2019, 19:59 IST

सौरव गांगुली
सौरव गांगुली

भारतीय क्रिकेट के इतिहास में कई महान कप्तान हुए हैं, जिन्होंने अपने दृष्टिकोण और अपने प्रयासों से भारतीय क्रिकेट को एक नए आयाम पर पहुंचाया है। एक समय ऐसा भी आया था, जब भारत के महान कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन और उनके साथी अजय जडेजा मैच फिक्सिंग के आरोप में लिप्त पाए गए थे। जिसके बाद यह सवाल खड़ा हुआ कि उनकी गैरमौजूदगी में भारतीय टीम का सबसे परफेक्ट कप्तान कौन होगा।

ऐसे में भारतीय टीम की कप्तानी सौरव गांगुली को सौंपी गई। वहीं गांगुली ने भी अपनी दूरदृष्टि और कप्तानी क्षमता से टीम को नए मुकाम पर पहुंचाया और साथ ही टीम को ऐसे खिलाड़ी चुनकर दिए, जिन्होंने भारत को एक बार फिर से विश्व चैंपियन बनाया। इन खिलाड़ियों में युवराज सिंह, जहीर खान, वीरेंद्र सहवाग, हरभजन सिंह, आशीष नेहरा, गौतम गंभीर और एमएस धोनी का नाम शामिल है।

गांगुली की कप्तानी में भारत ने साल 2000 से 2005 के बीच भारत ने सबसे पहले पोर्ट ऑफ स्पेन में एक टेस्ट सीरीज जीती, इसके बाद इंग्लैंड में 2002 में एक टेस्ट सीरीज 1-1 से ड्रॉ की और उसके बाद 2003-04 में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी बरकरार रखी और उसके बाद पाकिस्तान के खिलाफ वनडे और टेस्ट सीरीज में जीत दर्ज की।

उनकी इन उपलब्धियों के कारण गांगुली का नाम भारत के सबसे सफल कप्तानों में शुमार किया जाता है लेकिन इस दौरान कुछ ऐसे पल भी आए, जब उनकी कप्तानी में भारत के करोड़ों देशवासियों का दिल टूटा। आज हम आपको उन्हीं 4 मौकों के बारे में बताने जा रहे हैं।

#4 भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (2003 विश्व कप, फाइनल मैच)

भारतीय क्रिकेट टीम 2003 विश्वकप
भारतीय क्रिकेट टीम 2003 विश्वकप

भारतीय क्रिकेट टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए विश्वकप 2003 के फाइनल में जगह बनाई। नीदरलैंड पर शानदार जीत के साथ विश्वकप अभियान की शुरुआत की लेकिन किसी को नहीं मालूम था कि भारतीय टीम लगातार जीत हासिल करने के साथ ही फाइनल में पूर्व चैंपियन से भिड़ेगी।

लेकिन फाइनल में भारतीय क्रिकेट टीम को विरोधी ऑस्ट्रेलिया के हाथों 125 रनों से हार मिली। उस टूर्नामेंट के फाइनल मैच में भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया।

यह भी पढ़ें : 7 मशहूर भारतीय क्रिकेटर जिन्होंने अपने करियर में एक भी वर्ल्ड कप मैच नहीं खेला

इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पॉन्टिंग की 140 रनों की पारी और मार्टिन की 88 रनों की पारी ने भारत को इस मैच से दूर कर दिया था। इन खिलाड़िंयों की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने मैच में 359 रन बनाए थे। जिसके जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम मात्र 234 रनों पर ही आलआउट हो गई और भारत को इस मैच में 125 रनों के भारी अंतर से हार मिली। 

Hindi Cricket Newsसभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

1 / 4 NEXT
Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...