तुलसी के नुकसान: Tulsi ke Nuksan

फोटो: Sanmarg
फोटो: Sanmarg

तुलसी को धार्मिक एवं औषिधिक कारणों से बेहद सम्मान की नजर से देखा जाता है। ये बात सच भी है और जरूरी भी क्योंकि अकेले तुलसी ही आपके शरीर से जुड़ी कई परेशानियों को ठीक कर सकती है। ऐसे में ये बात भी जान लेनी जरूरी है कि किसी भी चीज के सिर्फ फायदे ही हो ये संभव नहीं है।

ये भी पढ़ें: हाथ-पैरों में कमजोरी झुनझुनी का एहसास होना है किस बीमारी के लक्षण: haath pairon mein kamjori jhunjhuni ka ehsas hona hai kis beemaari ke lakshan

उस बात को ध्यान में रखते हुए ये जानना बेहद जरूरी है कि तुलसी से आपको किस प्रकार के नुकसान हो सकते हैं। तुलसी को चाय में इस्तेमाल किया जाता है, और कई लोग पूजा के अलावा इसे यूँ भी खाते हैं। इसका सीधा अर्थ ये है कि ये बेहद वंदनीय है और इसके अंदर काफी गुण हैं जो एक अच्छी बात है।

ये भी पढ़ें: एक अच्छी नींद ही अच्छे जीवन और स्वास्थ्य की कुंजी है

इसके साथ साथ इसमें मौजूद कमियों या संभावित कमियों को भी जान लेना जरूरी है ताकि आप किसी भी प्रकार की सेहत से जुड़ी परेशानी से दो चार ना हो जाएं। ये बात ध्यान रखें कि तुलसी को आयुर्वेद में बेहद सम्मान प्राप्त है और ये उसके अंदर मौजूद गुणों के कारण ही संभव हुआ है।

तुलसी के नुकसान

अधिक मात्रा में सेवन खून को पतला कर सकता है

तुलसी का सेवन करना बेहद लाभकारी है लेकिन जैसा हर स्थिति में होता है वो ही स्थिति तुलसी पर भी लागू होती है। अगर आप इसका सेवन जरूरत से ज्यादा कर लेंगे तो उससे आपका खून पतला हो जाएगा जो कई बीमारियों और शरीर की शक्ति को कमजोर करने का कारण बन जाएगा।

सर्जरी के तुरंत बाद तुलसी को ना खाएं

खून से जुड़ी एक और परेशानी सर्जरी के बाद हो सकती है और इसलिए ये आवश्यक है कि आप सर्जरी के बाद इसका सेवन ना करें। ऐसा इसलिए है क्योंकि खून के थक्के जम सकते हैं जो परेशानी को बढ़ा सकते हैं। इसलिए सर्जरी के बाद कभी भी तुलसी का सेवन ना करें वरना ये कष्ट को बढ़ा देगा।

हाइपोथायरायडिज्म होने पर तुलसी के सेवन से करें परहेज

थायरायड हार्मोन थायरॉक्सिन की कमी होने पर आपको थायरायड से जुड़ी परेशानी हो सकती है। ऐसे में तुलसी का सेवन ना करें क्योंकि ये थायरॉक्सिन के स्तर को कम कर सकती है। इससे बचने के लिए आपको अपनी सेहत का ध्यान रखना चाहिए और जबतक जरूरी ना हो तब तक इसका सेवन ना करें।

ये भी पढ़ें: सरदर्द रोकने के लिए 4 योगासन: Sir dard rokne ke liye 4 yoga aasan

Edited by Amit Shukla
Be the first one to comment