Create
Notifications

Yoga tips: kapalbhati kaise kare: योग टिप्स: कपालभाति कैसे करे

फोटो: The Economic Times
फोटो: The Economic Times
Amit Shukla

कपालभाति एक ऐसा प्राणायाम या योगासन है जो सबसे ज्यादा प्रचलित है और हर कोई इस आसन को करने में खुद को समर्थ मानता है। ये एक ऐसी धारणा है जिसने लोगों का फायदा कम और नुकसान ज्यादा किया है। इसकी एक बड़ी वजह ये है कि हर कोई ऐसा समझता है कि उन्हें कपालभाति करना आता है जबकि ये सच नहीं है।

ये भी पढ़ें: पेट की गैस के लिए 5 योगासन: pet ki gas ke liye 5 yoga aasan

इसकी एक बड़ी वजह ये है कि लोग इस बात की जानकारी नहीं रखते हैं कि उन्हें किस ऊँगली और अंगूठे को साथ में जोड़ना होता है। ये इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि शरीर में मौजूद एक ऊँगली आपके साँस के प्रवाह को कंट्रोल करती है और अगर आप उसकी जगह किसी और ऊँगली के साथ अंगूठे का संपर्क कराएंगे तो उससे आप योगासन का अर्थ बिगाड़ देंगे।

ये भी पढ़ें: किडनी को बचाने के लिए इन गलतियों को ना करें

कपालभाति कैसे करे

कपालभाति को करने के लिए आप इन चीजों का ध्यान रखें और इन आदतों को अपनाएं:

(1) सबसे पहले तो पालथी मारकर बैठ जाएं और रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें।

(2) हाथों को घुटने पर रख लें और अंगूठे तथा तर्जनी ऊँगली (अंगूठे के बिल्कुल बाद वाली ऊँगली) को एक दूसरे से जोड़ लें।

(3) अब शरीर को ढ़ीला छोड़ दें और आँखों को बंद कर लें।

(4) साँस को नाक से अंदर लें लेकिन इस स्थिति में आपका पेट बाहर की तरफ जाना चाहिए।

(5) अब नाक से ही साँस बाहर बाहर छोड़ें लेकिन इस दौरान आपका पेट अंदर की तरफ होना चाहिए।

(6) इसके बाद इस क्रम को बार बार करें लेकिन ध्यान रखें कि एक क्रम में 20 बार ही साँस अंदर लें एवं बाहर छोड़ें।

(7) एक क्रम हो जाने के बाद आँखें बंद करके एक मिनट तक बैठे रहें और शरीर को एकदम ढ़ीला ही रखें।

ये भी पढ़ें: दूध से प्रतिदिन मसाज करने के फायदे जानकर आप इसे जरूर करना चाहेंगे

कौन लोग कपालभाति ना करें

अगर आपके पेट की सर्जरी हुई है, कार्डिएक से जुड़ी कोई परेशानी है या फिर रीढ़ की हड्डी से जुड़ी कोई परेशानी है तो इस आसन को ना करें। पीरियड्स के दौरान इसे ना करें एवं खाना खाने के तुरंत बाद इस आसान को बिल्कुल नहीं करना चाहिए। अगर आप प्रेग्नेंट हैं तो इस योगासन को ना करें। हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत वाले मरीज इस आसन को ना करें वरना इससे सेहत को परेशानी हो सकती है। इसे दिन में या किसी भी समय ना करें क्योंकि इसे करने का सही समय सुबह खालीपेट होता है।


Edited by Amit Shukla

Comments

Fetching more content...