Create
Notifications

3 कारण क्यों द शील्ड WWE इतिहास की सबसे अच्छी फैक्शन थी

WWE
WWE
Ujjaval Palanpure
visit

द शील्ड को WWE की सबसे खतरनाक फैक्शन माना जा सकता है। 2012 के सर्वाइवर सीरीज पीपीवी में उन्होंने शानदार डेब्यू किया था और इसके बाद वो अपने प्रदर्शन से सबको प्रभावित करने में सफल रहे। काफी कम समय में उन्होंने फैंस का ध्यान अपनी ओर खींचा। साथ ही वो कई बड़े ग्रुप्स को हराने में सफल रहे।

साथ ही उन्होंने जॉन सीना, सीएम पंक, अंडरटेकर, केन और अन्य बड़े स्टार्स को भी धूल चटाई। शील्ड में रोमन रेंस, सैथ रॉलिंस और डीन एम्ब्रोज़ शामिल थे और वो अकेले ही कई सारे दिग्गजों पर भारी पड़ जाते थे। उन्होंने लगभग 2 सालों तक साथ काम किया। इसके बाद सैथ रॉलिंस ने अपने साथियों को धोखा दे दिया और वो अलग हो गए।

ये भी पढ़ें:- 5 WWE सुपरस्टार्स जिन्होंने अजीबोगरीब कपड़े पहनकर हैरान किया

हर कोई इस फैक्शन को काफी पसंद करता था। WWE इतिहास में इस ग्रुप को हमेशा ही ऊपर रखा जाएगा। इसलिए हम बात करने वाले हैं 3 कारणों के बारे में जिनकी वजह से द शील्ड को WWE के इतिहास का सबसे अच्छा ग्रुप माना जा सकता है।

3- WWE में द शील्ड के पास बढ़िया कैरेक्टर और थीम सॉन्ग था

द शील्ड की सफलता का मुख्य कारण उनका कैरेक्टर और लुक था। तीनों सुपरस्टार्स ने हील के रूप में अपना डेब्यू किया था और उनके कपड़े पूरी तरह गिमिक को दिखा रहे थे। इसके साथ ही द शील्ड का थीम सॉन्ग भी काफी ज्यादा शानदार था और इसकी अन्य फैक्शन से तुलना की जाए तो ये काफी अच्छा था।

WWE ने अच्छे प्लान्स से फैक्शन की शुरुआत की थी। इन कारणों से आते ही उन्होंने फैंस का ध्यान खींचा और इसके बाद सालों तक लोग इस ग्रुप के फैन बने रहे।

ये भी पढ़ें:- 3 कारण क्यों रोमन रेंस इस समय WWE के सबसे खतरनाक विलन है

2- द शील्ड के सभी सदस्य अंत में जाकर वर्ल्ड चैंपियंस बनने में सफल रहे

हर एक फैक्शन का मकसद होता है कि उसमें मौजूद सुपरस्टार्स को भविष्य में फायदा हो। WWE में ऐसे कई सुपरस्टार्स है जो शुरुआत में बड़ी फैक्शन का हिस्सा रहे और फिर उन्हें सफलता मिली। इसके बावजूद फैक्शन के हर एक सदस्य को बड़ी सफलता नहीं मिली है।

द शील्ड के साथ ऐसा नहीं है। ग्रुप का हर सदस्य भविष्य में जाकर वर्ल्ड चैंपियन बना और काफी नाम कमाया। इससे पता चलता है कि द शील्ड काफी सफल रही क्योंकि इससे तीन नए सुपरस्टार्स को भविष्य के मेन इवेंटर्स बनने में मदद हुई।

1- द शील्ड लंबे समय तक अनडिफिटेड रही थी

द शील्ड के लिए शुरुआत में जरुरी था कि वो सुपरस्टार्स पर दबदबा बनाने के साथ ही लगातार जीत भी दर्ज करते रहे। उदाहरण के लिए, रेट्रीब्यूशन ने आते ही काफी तबाही मचाई थी लेकिन वो हर बार जीत हासिल करने में सफल नहीं रहती हैं।

ऐसे में फैक्शन पूरी तरह सफल नहीं हो रही हैं। द शील्ड के साथ ऐसा नहीं था। ये फैक्शन अपने डेब्यू के बाद लंबे समय तक एक भी मैच नहीं हारी थी। वो दिसंबर 2012 से मई 2013 तक कोई मैच नहीं हारी थी और ये उनकी सफलता को दर्शाने के लिए काफी है।

ये भी पढ़ें:- 3 WWE स्टार्स जो अपने डेब्यू के बाद सीधा मेन इवेंटर बन गए

Edited by Ujjaval Palanpure

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now