Create

5 WWE सुपरस्टार्स जिनके खिलाफ रोमन रेंस Hell in a Cell में लड़ सकते हैं 

WWE Hell in a Cell 2021
WWE Hell in a Cell 2021

WWE यूनिवर्सल चैंपियन रोमन रेंस (Roman Reigns) अपनी वापसी के बाद से ही स्मैकडाउन (SmackDown) पर अपना प्रभुत्व कायम किए हुए हैं। पेबैक (Payback) 2020 में उन्होंने टाइटल अपने नाम किया था और अब चैंपियन रहते वो 250 दिन के आंकड़े को भी पार कर चुके हैं।

हाल ही में रेसलमेनिया बैकलैश (WrestleMania Backlash) में उन्होंने सिजेरो (Cesaro) को हराकर एक बार फिर अपनी चैंपियनशिप बेल्ट को सफलतापूर्वक डिफेंड किया। अब WWE ने अपने अगले पीपीवी हैल इन ए सैल (Hell in a Cell) की पुष्टि कर दी है, जिसके आयोजन में अभी करीब 1 महीना बाकी है।

ये भी पढ़ें: 5 धमाकेदार मैच जो WWE फैंस को साल 2021 में देखने को मिल सकते हैं

अब सवाल है कि WWE यूनिवर्सल चैंपियन रोमन रेंस का अगला चैलेंजर कौन हो सकता है। इसलिए इस आर्टिकल में हम उन 5 बड़े सुपरस्टार्स के बारे में आपको बताएंगे जिनसे Hell in a Cell पीपीवी में रोमन रेंस का मैच हो सकता है।

ये भी पढ़ें: द अंडरटेकर के WWE में 4 सबसे यादगार Hell in a Cell मुकाबले

WWE यूनिवर्सल चैंपियन रोमन रेंस vs जिमी उसो

पिछले साल रोमन रेंस और जे उसो का Hell in a Cell 'आई क्विट' मैच यादगार रहा था। दोनों रियल लाइफ कज़िन ब्रदर्स के बीच स्टोरीलाइन शानदार रही, जिसने रेंस के ट्राइबल चीफ किरदार को दिलचस्प बनाने में अहम भूमिका निभाई। उसी मैच में रेंस द्वारा अपने भाई जिमी उसो पर गिलोटीन चोक लगता देख जे उसो को मजबूरन 'आई क्विट' कहना पड़ा था।

अब उसके करीब 7 महीने बाद जिमी वापसी कर चुके हैं, जो रेंस को अपना ट्राइबल चीफ मानने को तैयार नहीं हैं। संभव है कि रेंस, जिमी को उनकी हकरतों का सबक सिखाने की कोशिश कर सकते हैं। जिस तरह उन्होंने जे उसो को Hell in a Cell मैच में सबक सिखाया था, वही हालत वो जिमी की भी कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: 4 बड़े WWE सुपरस्टार्स जिन्हें रोमन रेंस ने यूनिवर्सल चैंपियन बनने के बाद बेईमानी से हराया है

WWE और रेसलिंग से जुड़ी तमाम बड़ी खबरों के साथ-साथ अपडेट्स, लाइव रिजल्ट्स को हमारे Facebook page पर पाएं।

रोमन रेंस vs एलिस्टर ब्लैक

रोमन रेंस अभी तक SmackDown में केविन ओवेंस, डेनियल ब्रायन और ऐज जैसे अधिकतर मेन इवेंट सुपरस्टार्स को मात दे चुके हैं। इसलिए आने वाले हफ्तों में रेंस का एक नया चैलेंजर उभर कर सामने आ सकता है। पिछले कुछ हफ्तों में एलिस्टर ब्लैक के प्रोमो भी गौर करने वाले विषय रहे हैं।

ब्लैक की इन रिंग स्किल्स शानदार है और एक समय पर उन्हें WWE के अगले अंडरटेकर के रूप में भी देखा जा रहा था। दुर्भाग्यवश उनका मेन रोस्टर का सफर अभी तक उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाया है। अगर WWE उन्हें बड़ा पुश देना चाहती है तो उन्हें रेंस के खिलाफ WWE यूनिवर्सल चैंपियनशिप फ्यूड में उतारना कोई गलत फैसला नहीं होगा।

रोमन रेंस vs शिंस्के नाकामुरा

WrestleMania 37 के बिल्ड-अप में ऐसा प्रतीत हो रहा था जैसे WWE शिंस्के नाकामुरा को रोमन रेंस के अगले चैलेंजर के रूप में तैयार कर रही है। लेकिन बाद में उनके बजाय केविन ओवेंस और डेनियल ब्रायन को WWE यूनिवर्सल चैंपियनशिप स्टोरीलाइन में शामिल किया गया।

WWE अब उसी स्टोरीलाइन को दोबारा शुरू कर Hell in a Cell पीपीवी में इनका मैच बुक कर सकती है। साल 2018 के बाद नाकामुरा टॉप लेवल की स्टोरीलाइंस का हिस्सा नहीं बने हैं, इसलिए अगले पीपीवी में रेंस के खिलाफ मैच से आसानी से उन्हें वापस टॉप कार्ड सुपरस्टार्स में से एक बनाया जा सकता है।

रोमन रेंस vs सिजेरो

WWE WrestleMania Backlash पीपीवी में रोमन रेंस ने सिजेरो को हराकर ही अपने WWE यूनिवर्सल टाइटल को डिफेंड किया था। स्विस सुपरस्टार को इतना शानदार मोमेंटम प्राप्त था कि WWE हॉल ऑफ फेमर बुकर टी ने भी उनके नए यूनिवर्सल चैंपियन बनने की उम्मीद जताई थी। दोनों के बीच तगड़े एक्शन से भरपूर मैच लड़ा गया था, जिसमें सिजेरो ने ना तो टैप आउट किया और ना ही वो पिन हुए। इस वजह से इनकी दुश्मनी WWE Hell in a Cell 2021 तक भी जारी रह सकती है।

रोमन रेंस vs सिजेरो vs सैथ रॉलिंस

WWE WrestleMania Backlash में रोमन रेंस की सिजेरो पर जीत के बाद सैथ रॉलिंस का दखल देखने को मिला था। रॉलिंस ने स्विस सुपरस्टार की पीट-पीटकर बुरी हालत कर दी थी, आपको ये भी याद दिला दें कि इनकी दुश्मनी पिछले कई महीनों से चली आ रही है।

WrestleMania Backlash के सैगमेंट के बाद दोनों का भविष्य में आमने-सामना आना निश्चित है। खास बात ये है कि दोनों अभी WWE यूनिवर्सल चैंपियनशिप स्टोरीलाइन का भी हिस्सा बने हुए हैं। इस बात के कई संकेत मिले हैं कि रॉलिंस और रेंस के बीच दुश्मनी शुरू हो सकती है, लेकिन मौजूदा स्थिति को देखते हुए सिजेरो का उसमें शामिल होना भी तय है।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता
Be the first one to comment