Create
Notifications

5 कारण क्यों रैंडी ऑर्टन Hell in a Cell में WWE चैंपियन बने

WWE
WWE
Ujjaval Palanpure
visit

WWE के Hell in a Cell पीपीवी का अंत हो गया है। WWE ने शो में कम मुकाबले बुक किये थे लेकिन सारे ही मैच रोचक रहे थे। पीपीवी में दो बड़े टाइटल चेंज देखने को मिले। दरअसल, साशा बैंक्स ने बेली को पराजित किया और नई SmackDown विमेंस चैंपियन बनी। इसके अलावा रैंडी ऑर्टन और ड्रू मैकइंटायर के बीच मेन इवेंट में हुए Hell in a Cell मैच ने सबको प्रभावित किया।

दोनों सुपरस्टार्स ने शुरुआत से ही शानदार मूव्स से दर्शाए और बाद में रैंडी ऑर्टन का पलड़ा भारी रहा। उन्होंने RKO की मदद से मैच में जीत दर्ज की और नए चैंपियन बन गए। हर कोई ऑर्टन की इस जीत से सरप्राइज था। लग रहा था कि ड्रू मैकइंटायर चैंपियन बने रहेंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

ये भी पढ़ें:- Hell in a Cell में 28 साल के रेसलर ने रचा इतिहास, 380 दिनों बाद WWE को मिला नया चैंपियन

हर किसी के मन में सवाल होगा कि आखिर Hell in a Cell पीपीवी में बड़ा टाइटल चेंज क्यों हुआ। इसलिए हम बात करने वाले हैं 5 कारणों के बारे में जिनकी वजह से रैंडी ऑर्टन ने Hell in a Cell में ड्रू मैकइंटायर को हराया और नए चैंपियन बने।

5- Hell in a Cell में रैंडी ऑर्टन तीसरी बार नहीं हार सकते थे

रैंडी ऑर्टन और ड्रू मैकइंटायर स्टोरीलाइन में आने के बाद तीसरी बार मैच लड़ रहे थे। समरस्लैम और क्लैश ऑफ चैंपियंस पीपीवी में ड्रू मैकइंटायर का पलड़ा भारी रहा था। साथ ही दोनों जगह रैंडी ऑर्टन मुख्य रूप से कमजोर नजर आए थे।

ऐसे में उनके करियर के लिए लगातार तीसरे ही पीपीवी में एक ही विरोधी से हार मिलना निराशाजनक रहता। इसलिए मैच में रैंडी ऑर्टन को जीत मिली और उनका आखिर पलड़ा भारी रहा।

ये भी पढ़ें:- 141 किलो के फेमस WWE सुपरस्टार को उसके दोस्त ने दिया चौंकाने वाला धोखा, फैंस भी हुए बुरी तरह हैरान

4- ड्रू मैकइंटायर फैंस के आने के बाद अब फिर WWE टाइटल जीत सकते हैं

ड्रू मैकइंटायर को सालों की मेहनत और इंतजार के बाद WWE चैंपियन बनने का मौका मिला था। इस दौरान फैंस मौजूद नहीं थे और इस वजह से उनका सेलिब्रेशन खराब हो गया था। इसके बावजूद बतौर चैंपियन उन्होंने काफी अच्छा काम किया था।

अब रैंडी ऑर्टन चैंपियन बन गए हैं। साथ ही भविष्य में क्राउड की जरूर ही वापसी देखने को मिलने वाली हैं। ऐसे में WWE एक बार फिर ड्रू मैकइंटायर को चैंपियन बना सकता है।

3- रैंडी ऑर्टन को रिक फ्लेयर का रिकॉर्ड तोड़ने के करीब पहुँचाने के लिए

रिक फ्लेयर और जॉन सीना 16 बार वर्ल्ड चैंपियनशिप जीत चुके हैं। ऑर्टन इस जीत से पहले 13 बार के वर्ल्ड चैंपियन थे और उनके लिए रिक फ्लेयर के रिकॉर्ड के करीब आना काफी मुश्किल नजर आ रहा था।

इसके बावजूद Hell in a Cell में जीत की वजह से अब वो 14 बार के वर्ल्ड चैंपियन बन गए हैं। ऐसे में वो फ्लेयर के रिकॉर्ड के करीब आ गए हैं। WWE उन्हें भी इस जीत के साथ दिग्गजों के करीब ला रहा है।

2- ऐज और रैंडी ऑर्टन के बीच तीसरे मैच को रोचक बनाने के लिए

ऐज और रैंडी ऑर्टन के बीच रेसलमेनिया में मैच हुआ था और यहां ऐज ने जीत दर्ज की थी। साथ ही बैकलैश में एक बार फिर दोनों के बीच मैच देखने को मिला और इस बार रैंडी ऑर्टन को जीत मिली थी।

ऐसे में दोनों सुपरस्टार्स को एक-दूसरे पर एक-एक जीत मिली है। ऐज की रॉयल रंबल के करीब वापसी देखने को मिलेगी। ऐसे में दोनों सुपरस्टार्स के बीच रेसलमेनिया पीपीवी में तीसरी बार मैच देखने को मिल सकता है। इस बार WWE ने चैंपियनशिप को स्टोरीलाइन में जोड़ने के लिए Hell in a Cell में टाइटल चेंज बुक किया।

1- Hell in a Cell के अंत से भविष्य में बड़ी चीज़ों के संकेत देने के लिए

रैंडी ऑर्टन के पास अब टाइटल आ गया है। ऐसे में बेबीफेस सुपरस्टार्स को भविष्य में पुश मिल सकता है। पिछले कुछ समय से कई सारे हील सुपरस्टार्स को Raw में वर्ल्ड टाइटल मैच मिला है।

इसके साथ बेबीफेस सुपरस्टार्स लंबे समय से संघर्ष कर रहे थे। अब रैंडी ऑर्टन के चैंपियन बनने से अन्य बेबीफेस सुपरस्टार्स को बड़ा फायदा होगा।

ये भी पढ़ें:- Hell in a Cell में WWE को नया चैंपियन मिलने पर ट्विटर पर प्रतिक्रियाओं का सैलाब आया

Edited by Ujjaval Palanpure
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now